लोकसभा चुनाव के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दावों से सियासी बवाल खड़ा हो गया है. पीएम मोदी ने दावा किया है कि ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के 40 विधायक उनके संपर्क में हैं. यही नहीं पीएम मोदी ने कहा कि लोकसभा चुनाव परिणाम आने के बाद सभी 40 विधायक टीएमसी छोड़ देंगे.

अब इसी बयान पर ममता बनर्जी की पार्टी भड़क उठी. टीएमसी के वरिष्ठ नेता डेरेक ओ ब्रायन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एस्पायरी बाबू करार देते हुए कहा कि हम ‘हॉर्स ट्रेडिंग’ (विधायकों की खरीद फरोख्त) की शिकायत चुनाव आयोग से करेंगे.

डेरेक ने कहा, ”एक्सपायरी बाबू पीएम, सीधी तरह समझ लें. कोई भी आपके साथ नहीं जाएगा. एक काउंसलर भी नहीं. आप चुनाव प्रचार कर रहे हैं या हॉर्स ट्रेडिंग कर रहे हैं! आपकी एक्सपायरी डेट नजदीक है. आप पर हॉर्स ट्रेडिंग के आरोप को लेकर आज हम चुनाव आयोग से शिकायत कर रहे हैं.”

पीएम मोदी के बयान पर कांग्रेस ने भी पीएम मोदी पर निशाना साधा है. पश्चिम बंगाल में टीएमसी के खिलाफ लड़ रही कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरेजेवाला ने कहा, ‘‘मोदी जी ने दावा किया है कि वह तृणमूल कांग्रेस के 40 विधायकों से संपर्क साधे हुए है. क्या ये खरीद फरोख्त नहीं है ? क्या ये खुलेआम ख़रीद फ़रोख़्त की बात नहीं है ? क्या ये बीजेपी का राजनैतिक दीवालियापन नहीं दर्शाता है ? साफ़ है कि आज चौथे चरण के बाद बीजेपी ने पक्का हार मान ली है.’’

प्रधानमंत्री मोदी ने क्या कहा था?
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को श्रीरामपुर में एक चुनावी रैली में कहा, ‘‘दीदी (ममता बनर्जी), इस चुनाव का परिणाम आने के बाद आपके अपने विधायक भी आपका साथ छोड़ देंगे. आपके 40 विधायक मेरे सम्पर्क में हैं और बीजेपी के चुनाव जीत जाने पर आपके सभी विधायक आपको छोड़ देंगे. आपके पैर के नीचे से राजनीतिक जमीन खिसक गई है.’’

उन्होंने कहा, ‘‘चंद सीटों के दम पर, ‘दीदी’ आप दिल्ली नहीं पहुंच सकतीं. दिल्ली अभी दूर है. दिल्ली जाना केवल एक बहाना है. उनका वास्तविक इरादा अपने भतीजे को राजनीतिक रूप से स्थापित करना है.’’ बनर्जी के भतीजे अभिषेक डायमंड हार्बर से वर्तमान में सांसद हैं और इसी सीट से तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार हैं.

मिठाई पर तीखे बोल
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मिठाई वाले बयान पर भी ममता बनर्जी पर पलटवार किया. दरअसल, पीएम मोदी ने एक इंटरव्यू में दावा किया था कि ममता बनर्जी उनके लिए मिठाई और कुर्ते हर साल भेजती हैं.

पीएम मोदी के इस बयान पर टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी ने कहा था कि बंगाल के लोग उन्हें वोट की बजाय मिट्टी से बने रसगुल्ले देंगे जिनमें पत्थर भरे होंगे जिससे उनके दांत टूट जाएंगे.

अब ममता बनर्जी के बयान पर ममता ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा, ‘‘वह मेरे लिए ‘प्रसाद’ की तरह होगा. मैं बंगाल की पवित्र धरती की मिट्टी से बने रसगुल्ले पाकर धन्य हो जाऊंगा जो कि रामकृष्ण परमहंस, स्वामी विवेकानंद, नेताजी सुभाष चंद्र बोस और रवींद्रनाथ टैगोर की धरती है.’’

मोदी ने बनर्जी का उल्लेख करते हुए कहा कि वह वे पत्थर पाकर भी प्रसन्न होंगे जिसके बारे में पश्चिम बंगाल की नेता ने कहा कि वे मिट्टी के रसगुल्ले में भरे होंगे क्योंकि इससे उन पत्थरों की संख्या में कमी आएगी जिसका इस्तेमाल ‘‘ममता दी के गुंडे’’ लोगों पर हमला करने के लिए करते हैं.