लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ कभी अपराधियों के निशाने पर रहती है तो कभी खुद वर्दी वाला ही बेलगाम हो जाता है। शहर के मड़ियांव थाना क्षेत्र के बेरी होटल पास एक दरोगा की दबंगई देखने को मिली है जहां उसके द्वारा अचानक सर्विस रिवाल्वर से ताबड़तोड़ फायरिंग शुरू कर दी। जिससे पूरे मोहल्ले में भगदड़ मच गई। दरोगा द्वारा की गई इस फायरिंग में एक ज्योति नामक महिला के पैर में गोली लगी, शब्बीर के दाहिने हाथ को छूते हुए निकल गई साथ ही कई अन्य लोग भी घायल हो गए। जिसके बाद ही आक्रोशित लोगों ने दबंग दरोगा की मोटरसाइकिल को आग के हवाले कर दिया।

जानकारी मिलते ही मौके पर एसपी ट्रांसगोमती अमित कुमार समेत भारी पुलिस बल मौके पर पहुंच गई और आक्रोशित लोगों के बीच से किसी तरह सकुशल दबंग दरोगा को हिरासत में लेकर थाने पहुंची। जिसके बाद ही घायलों को इलाज के लिए भेजने के साथ ही पीड़ितों की तरफ से तहरीर लेकर आगे की कार्रवाई में जुट गई है।

दबंगई में की फायरिंग

स्थानीय लोगों ने बताया कि, दरोगा ने आते ही फायरिंग शुरू कर दी थी। दरोगा अमित कुमार का पड़ोसियों से नाली व स्ट्रीट लाइट को लेकर विवाद है। अमित प्रतापगढ़ कोतवाली में तैनात हैं और फिलहाल छुट्टी पर घर आए थे। मंगलवार की रात अमित की बेरी होटल के पास एक व्यक्ति से कहासुनी हो गई। बात बढ़ने पर दरोगा ने सर्विस रिवॉल्वर से कई राउंड फायरिंग कर दी। फायरिंग से मौके पर हड़कंप मच गया। लोग इधर-उधर भागने लगे। फायरिंग के दौरान मोहल्ले के शब्बीर की हथेली पर गोली लगी और वह जख्मी हो गए। इसके अलावा पास में मौजूद वकील अजय कुमार यादव और ज्योति शुक्ला घायल हुई।

मामले की गंभीरता को देखते हुए लखनऊ पुलिस भी हरकत में आ गई है। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने बताया कि दरोगा के खिलाफ विभागीय कार्रवाई किया जाएगा। एसपी ट्रांसगोमती अमित कुमार ने बताया कि प्रतापगढ़ के सदरपुर थाने में तैनात सबइंस्पेक्टर अमित द्वारा फायरिंग की गई है जिसमें घायलों को अस्पताल भेज दिया गया है और दरोगा को हिरासत में ले लिया गया है, साथ ही उनके पास से घटना में स्तेमाल पिस्टल भी बरामद कर सीज कर दी गई है।