जहां एक तरफ चारों धाम की यात्रा पर जाने वाले यात्रियों की संख्या लगातार बढ़ रही हैं. तो वहीं दूसरी तरफ केदारनाथ की यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है खासकर बुजुर्गो को. बारिश और बर्फ़बारी के चलते ऑक्सीजन की कमी ने बुजुर्गों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं. लेकिन इसके हौसले पस्त नहीं हुए हैं. लेकिन दुखद पहलू ये है कि केदारनाथ की यात्रा के दौरान ऑक्सीजन की कमी से ह्रदय गति के रुक जाने के कारण अब तक 7 यात्रियों की मृत्यु हो चुकी है.

बताया जा रहा है कि मृतकों में ज्यादातर की उम्र 60 वर्ष से ज्यादा है. बीते 10 दिनों में हुई 7 श्रद्धालुओं की मौत से स्थानीय प्रशासन भी सकते मे है. स्वास्थ्य विभाग ने श्रद्धालुओं से अपील करते हुए कहा है किजिन लोगों को सांस लेने में दिक्कत है, वह केदारनाथ की यात्रा से बचें और यात्रा से पहले अपना मेडिकल परीक्षण जरूर करा लें.

आपको बता दें कि उत्तराखंड में बारिश और बर्फवारी होने सेइनदिनों तापमान में काफी गिरावट दर्ज की गई है.खासकर रात में तापमान शून्य से नीचे जाने पर यहां आने वाले श्रधालुओं को सांस लेने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है.