महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के मुखिया राज ठाकरे प्रवर्तन निदेशालय के समन के बाद पूछताछ के लिए अपने घर से निकल गए हैं। राज ठाकरे को आज ‘कोहिनूर सीटीएनएल-आईएल ऐंड एफएस’ मामले में ईडी के सामने पेश होना है। राज ठाकरे अपने पूरे परिवार के साथ ईडी के दफ्तर के लिए निकल गए हैं। उल्लेखनीय है कि कोहिनूर सीटीएनएल इंफ्रास्ट्रक्चर कंपनी में आईएल ऐंड एफएस द्वारा 450 करोड़ रूपये की इक्विटी निवेश और ऋण से जुड़ी कथित अनियमियतताओं की जांच के सिलसिले में ईडी ने राज ठाकरे को नोटिस जारी किया है।

महाराष्ट्र में कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना ने राज ठाकरे का समर्थन किया है। इस बीच मुंबई पुलिस की ओर से ठाणे में अविनाश जाधव समेत मनसे के कई बड़े नेताओं को हिरासत में लिया गया है। पुलिस ने ईडी के दफ्तर के बाहर धारा 144 लगा दी है। मनसे ने राज ठाकरे की पेशी को बदले की कार्रवाई बताया है।

मुंबई पुलिस ने कहा है कि यह कदम कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए उठाया गया है। अधिकारी ने कहा, ‘राज ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं से ईडी कार्यालय के बाहर नहीं जाने की अपील की है, लेकिन हम कोई भी जोखिम नहीं लेना चाहते हैं।’ अधिकारी ने साथ ही कहा, कि ठाकरे ईएलएंडएफएस जांच के सिलसिले में पूछताछ के लिए सुबह बल्लार्ड पियर स्थित ईडी कार्यालय में पेश होंगे।

मनसे के एक कार्यकर्ता ने पड़ोसी ठाणे में कथित तौर पर आत्महत्या कर ली और पार्टी ने बुधवार को दावा किया कि उसने यह कदम इसलिए उठाया क्योंकि वह अपने नेता को मिले ईडी के नोटिस से परेशान था। राज ठाकरे को मिले ईडी के समन पर उनके चचेरे भाई और शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे ने एक दिलचस्प प्रतिक्रिया में कहा कि उन्हें किसी ‘ठोस परिणाम’ की उम्मीद नहीं है। उद्धव ने तल्ख जवाब में कहा, ‘मुझे जांच से किसी ठोस नतीजे की उम्मीद नहीं है।’

ठाणे पुलिस का कहना है कि मनसे कार्यकर्ता प्रवीण चौगुले (27) के घर से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। प्रवीण ने मंगलवार की रात कथित तौर पर आग लगाकर आत्महत्या कर ली थी।

ईडी ऑफिस के चारों तरफ पुलिस की बैरिकेटिंग

राज ठाकरे की पेश से पहले आज मुंबई पुलिस ने ऐहितिहातन तौर पर मनसे के बड़े पदाधिकारियों को हिरासत में लिया है। मनसे कार्यकर्ताओ का आरोप है कि रात भर घर के बाहर पुलिस खड़े रही और फोन करती रही। यह मानसिक प्रताड़ना है। बताया जा रहा है कि ईडी ऑफिस के आस पास चारों तरफ पुलिस की बैरिकेटिंग की गई है। मनसे के विरोध को देखते हुए मुंबई के हर बड़े चौराहे और प्रमुख सड़कों पर पुलिस मौजूद है। किसी विपरित परिस्थिती के लिए पुलिस तैनात है। हेलमेट, लाठी कवर के साथ सिपाही सड़कों पर मौजूद हैं।

महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर जोशी के बेटे उन्मेश जोशी, राज ठाकरे और राज के करीबी सहयोगी और बिल्डर राजन शिरोडकर ने बंद हो गई कोहिनूर मिल की भूमि खरीदने और उसे (भूमि को) विकिसत करने के लिए इस कंपनी की स्थापना की थी। राज कथित तौर पर 2008 में इस कंपनी से बाहर निकल गये थे। उन्मेश से 19 अगस्त से ईडी के मुंबई कार्यालय में पूछताछ हो रही है।

राज ठाकरे की पेशी से एक दिन पहले बुधवार को उन्हें उनके चचेरे भाई और शिवसेना सुप्रीमो उद्धव ठाकरे का अप्रत्याशित समर्थन मिला। राज को भेजे ईडी के नोटिस के बारे में पूछे जाने पर उद्धव ने कहा कि मुझे पूछताछ से कोई ठोस नतीजा निकलने की उम्मीद नहीं है।