मुंबई: महाराष्ट्र में सूखाग्रस्त इलाकों में किसानों की बढ़ती आत्महत्या को रोकने में सरकार की नाकामी देशभर में अब भी चिंता का विषय बनी हुई है. किसान कर्ज माफ़ी का एलान भी किया गया जिसके बाद ये खबर भी आयी, कि किसानों तक कर्ज माफ़ी का फायदा नहीं पहुँच रहा, अब एक और बड़ी खबर आई है कि केंद्र सरकार ने महाराष्ट्र सरकार सूखाग्रस्त इलाकों किसानों की स्थिति को बेहतर करने के लिए साढ़े 4 सौ करोड़ रूपए की आर्थिक मदद दी है.

आपको बता दें कि महाराष्ट्र सरकार ने करीब इतनी ही रकम की कर्जमाफी की थी. तब ये कहा गया था कि महाराष्ट्र सरकार के इस फैसले से महाराष्ट्र की जीडीपी पर असर पडेगा. इसलिए राज्य सरकार ने केंद्र सरकार से मदद की गुहार लगाई थी, जो अब मंजूर कर ली गई है. केंद्र सरकार के इस एलान के बाद मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने ख़ुशी जाहिर की है, साथ ही प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी और कृषिमंत्री राधा मोहन सिंह का आभार भी व्यक्त किया है.


महाराष्ट्र सरकार को केंद्र की 4 हजार 500 करोड़ की मदद को स्वाभिमानी शेतकरी संगठन के राजू शेट्टी ने राज्य के किसानों के साथ एक मजाक बताया है, राजू शेट्टी का आरोप है कि भले ही केंद्र सरकार ने राज्य सरकार को मदद का एलान किया है लेकिन इस मदद का फ़ायदा या पैसा किसानों तक नहीं पहुंचेगा, क्योंकि राज्य सरकार ने किसानों का जो कर्ज माफ़ किया था उसका फायदा अब तक लोगों को नहीं मिला है, ऐसे में ये उम्मीद कैसे कर ली जाए कि केंद्र से आया पैसा किसानो तक आसानी से पहुँच जाएगा।