लोकसभा चुनाव 2019 में अमेठी में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की हार की जिम्मेदारी लेते हुए अमेठी जिला कांग्रेस के अध्यक्ष योगन्द्र मिश्रा ने अपने पद से इस्तीफा दिया। तो वहीँ राज बब्बर ने पार्टी प्रदेश अध्यक्ष पद से अपना इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने अपना इस्तीफा राहुल गाँधी को भेजा है। इस बीच खबर है कि, लोकसभा चुनाव में करारी हार के कारणों पर मंथन करने के लिए कांग्रेस की सर्वोच्च नीति निर्धारण इकाई कांग्रेस कार्य समिति (सीडब्ल्यूसी) शनिवार को बैठक करेगी। सूत्रों का कहना है कि पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी इस बैठक में अपने इस्तीफे की पेशकश कर सकते हैं।

कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि सीडब्ल्यूसी की बैठक में मुख्य रूप से हार के कारणों पर विचार किया जाएगा। इस बारे में भी चर्चा होगी कि पार्टी को किस तरह से मजबूत किया जा सकता है। इस बैठक में राहुल गांधी के अलावा यूपीए प्रमुख सोनिया गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा और कार्यसमिति के अन्य सदस्य शामिल हो सकते हैं।

गौरतलब है कि इस लोकसभा चुनाव में करारी हार का सामना करना पड़ा है। वह 52 सीटों पर सिमट गयी है। 2014 के चुनाव में 44 सीटें जीतने वाली पार्टी को इस बार बेहतर की उम्मीद थी, लेकिन उसकी उम्मीदों पर पानी फिर गया। इस करारी हार के बाद राहुल गांधी ने गुरुवार को प्रेस कॉफ्रेंस करके पीएम मोदी को बधाई दी।

आपको बता दें कि गांधी परिवार का गढ़ कहे जाने वाली अमेठी सीट से भाजपा उम्मीदवार स्मृति ईरानी ने राहुल गांधी को पराजित किया है। प्रतिष्ठित अमेठी सीट पर भाजपा प्रत्याशी केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने 55,120 वोटों से जीत की दर्ज की। स्मृति ईरानी को 468514 वोट मिले जबकि प्रतिद्वंदी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने 413394 वोट प्राप्त किये। ईरानी ने 55,120 वोटों से राहुल गांधी को हराया।