महाराष्ट्र में भले ही सत्ता पर काबिज़ बीजेपी है और विपक्ष में कांग्रेस एनसीपी, लेकिन राजनितिक वार महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना और बीजेपी के बीच चल रही है। मुंबई से सटे ठाणे में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) और बीजेपी के कार्यकर्ताओं में जमकर मारपीट हुई। दोनों पक्ष इतने हिंसक हो गए थे की पुलिस को भी पीछे हटना पड़ा। लेकिन जब मामला बहुत ज़्यदा बिगड़ गया तो पुलिस को उपद्रवियों पर कंट्रोल करने के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा।

[KGVID]https://www.chauthiduniya.com/wp-content/uploads/20190510190032/WhatsApp-Video-2019-05-10-at-1.17.29-PM.mp4[/KGVID]

लोकसभा चुनाव में भले ही मनसे मैदान में नहीं हैं, मगर राज लगतार रैलियों के ज़रिये सीधे नरेंद्र मोदी और अमित शाह को आड़े ले रहे हैं। और यही बात बीजेपी को पसंद नहीं आ रही है। महाराष्ट्र की सभी 48 सीटों के लिए वोटिंग हो चुके हैं, लेकिन चुनावी माहौल में शुरू हुए विवाद की सरगर्मी अभी तक ठंडी नही हुई है।

दोनों पक्ष के बीच ये झड़प ठाणे के नौपाडा इलाके में हुई। नौपाडा में ही मनसे का कार्यालय है और पार्टी ने दफ्तर से सटे फुटपाथ पर गांव से आए किसानों को आम बेचने के लिए स्टाल लगाने का बंदोबस्त किया था। जिसके चलते आने-जाने का रास्ते पर असुविधा होने लगी थी। इसको लेकर स्थानीय बीजेपी कार्यकर्ताओं ने इसे अवैध अतिक्रमण बताते हुए इन स्टॉल्स को हटाने की मांग करने लगे।

लेकिन मनसे कार्यकर्ताओं ने स्टाल हटाने से मन कर दिया। जिसके बाद बीजेपी कार्यकर्ताओं ने ठाने म्युनिसिपल कॉर्पोरेशन के एंटी एनक्रोचमेंट टीम को बुला लिया, जिन्होंने स्टॉल को हटाना शुरू कर दिया। फिर क्या था मामला बिगड़ गया बीजेपी और मनसे के कार्यकर्ता आमने सामने आ गए। दोनों गुटों के बीच तनाव बढ़ने लगा और स्टॉल लगाने से शुरू हुआ ये मामला पहले आपस में गाली गलोज से पथराव तक जा पहुंचा।

मौके पर पहुंची पुलिस के दस्ते ने हालात काबू करने की कोशिश की तो उपद्रवियों ने उनपर भी पत्थरबाजी शुरू कर दी और उनके साथ धक्का-मुक्की करने लगे, जिसके बाद हालात को काबू करने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज करते हुए उपद्रवियों को खदेड़ा और दर्जन भर से ज्यादा लोगों को हिरासत में ले लिया। देर रात तक मौके पर मौजूद पुलिस इलाके के तनाव को कंट्रोल करने और उपद्रवियों की पकड़ने में जुटी हुई थी।