मुंबई: महाराष्ट्र में विपक्षी कांग्रेस और राकांपा ने भाजपा विरोधी गठबंधन में शामिल होने के लिए दलित नेता प्रकाश आंबेडकर से संपर्क किया है और उनसे कहा कि वह आरएसएस को संवैधानिक ढांचे में लाने के मुद्दे पर एक मसौदा उन्हें भेजें।

ये भी पढ़ें  संकल्प रैली में पीएम मोदी करेंगे शक्ति प्रदर्शन,नीतीश-पासवान के साथ भरेंगे हुंकार

संविधान निर्माता दिवंगत बी आर आंबेडकर के पोते प्रकाश आंबेडकर वंचित बहुजन आघाडी के प्रमुख हैं। उन्होंने लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा विरोधी ‘महा आघाडी’ (महागठबंधन) में शामिल होने के लिए शर्तें रखी हैं।

उन्होंने अपनी पार्टी के लिए राज्य की 48 में से 12 लोकसभा सीटों की मांग की है। साथ में, कांग्रेस की ओर से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) को संवैधानिक ढांचे के दायरे में लाने के लिए एक कार्य योजना की भी मांग की है।

ये भी पढ़ें बीजेपी के नेता हवाई हमले के आकड़े ‘बढ़ा-चढ़ाकर’ लीक कर रही – टीएमसी

वरिष्ठ कांग्रेस नेता राधाकृष्ण विखे पाटिल और राकांपा के प्रदेश प्रमुख जयंत पाटिल ने शुक्रवार को प्रकाश आंबेडकर को एक संयुक्त पत्र लिखा और उनसे ‘संविधान तथा लोकतंत्र बचाने के लिए’ भाजपा और मोदी सरकार से लड़ने के लिए अपने गठबंधन में शामिल होने का अनुरोध किया।

उन्होंने चिट्ठी में कहा, ‘‘आपकी जनसभाओं में हमने सुना है, आप कांग्रेस से लिखित बयान चाहते हैं कि आरएसएस को कैसे संवैधानिक दायरे में लाया जाए। आप पत्र का मसौदा हमें भेजें और हम इसे मंजूर कर सकते हैं। सीट बंटवारे का मामला भी बातचीत के जरिए हल हो सकता है।’’

ये भी पढ़ें ये था विंग कमांडर अभिनंदन का आख़िरी रेडियो मैसेज, जानिए कैसे किया F-16 तबाह

दोनों विपक्षी नेताओं ने कहा है कि विभिन्न स्तरों पर प्रकाश आंबेडकर के साथ बातचीत हुई है और गठबंधन में शामिल होने का निमंत्रण दिया गया है। उन्हें राज्य में चार लोकसभा सीटों की पेशकश की गई है।(Source-PTI)

ये भी पढ़ें रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने ‘अभिनंदन’ से की मुलाकात , पाक में हुई पूरी घटना के बारे में ली जानकारी