fbpx
Now Reading:
दिल्ली पुलिस ने सुलझा ली है सीए के अपहरण और क़त्ल की गुत्थी, शर्ट के रंग से पकड़ा गया कातिल
Full Article 2 minutes read

दिल्ली पुलिस ने सुलझा ली है सीए के अपहरण और क़त्ल की गुत्थी, शर्ट के रंग से पकड़ा गया कातिल

लगातार हो रहे गैंगवार और बढ़ रहे अपराध के बीच दिल्ली पुलिस ने एक बेहद ही पेचीदे अपहरण और क़त्ल की गुत्थी सुलझा ली है. शहर के शकरपुर इलाके से हुए चार्टेड अकाउंटेंट के अपहरण और क़त्ल के आरोप में पुलिस ने सीए के ड्राइवर को ही गिरफ्तार किया है. हैरानी की बात ये है की इस ब्लाइंड मर्डर केस में पुलिस के पास कोई भी सुराग नहीं था लेकिन फिर भी उनके हाथ आरोपी के गिरेबान तक जा पहुंचे वो भी महज़ शर्ट के रंग से.

आरोपी अंकित चंदन की गाड़ी को ओला कैब ड्राइवर के रूप में चलाता था. 15 मई को अंकित ने चंदन के जॉब छोड़ने की बात कही और फेयरवेल पार्टी के नाम पर चंदन को गाजियाबाद ले गया. अंकित, चंदन को कौशाम्बी के एक घर में ले गया, जहां उसका एक दोस्त भी साथ था. पार्टी के बाद चंदन ने जब अंकित के घर से निकलना चाहा तो अंकित ने उसे रोकते हुए जान से मारने की धमकी दी और उसके मुताबिक काम करने को कहा.

इसके बाद चंदन से उसके घरवालों को फोन करवाकर अकाउंट में लाख 62 हजार रुपये डालने का दबाव बनाया. घर वालों द्वारा पैसे डालने के बाद अंकित ने तुरंत पैसे निकाल लिए और इसके 3 दिन बाद उसकी हत्या कर दी. अंकित ने हत्या कर चंदन के शव को नोएडा के एक गांव के जंगल में फेंक दिया और टैक्सी को सड़क के किनारे छोड़ दिया. इसके बाद भी वो लगातार अलग-अलग एटीएम से चंदन के पैसे निकालता रहा.

जब पैसे भरने के बाद घरवालों को किडनैपर का फोन आना बंद हुआ तो उन्हें शक हुआ. जिसके बाद उन्होंने शकरपुर थाने पहुंचकर शिकायत दर्ज करवाई. पुलिस ने जांच शुरू कर उन एटीएम की जांच की जहां से पैसे निकाले गए. इस जांच में पुलिस को बार-बार मुंह ढका शख्स दिखाई दिया. साथ ही इसकी शर्ट चंदन के घर में मिले अंकित के फोटो जैसी थी. पुलिस ने अंकित को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की, जिसके बाद अंकित ने जुर्म कुबूल कर लिया. इसके अलावा पुलिस को अंकित के हाथ मे बंधा कलेवा और कड़ा भी सबूत के तौर पर मिला.

Input your search keywords and press Enter.