पाकिस्तान लगातार कर रहा था सीज़ फायर का उलंघन, जवाबी कार्यवाही में मारा गया सैनिक तो सफेद झंडे दिखाकर उठाए शव

भारत के सामने पाकिस्तान के तेवर एक बार फिर ढीले पड़े। पाकिस्तान सफेद झंडा दिखाकर जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा के पास से अपने सैनिकों के शवों को उठाकर ले गया। ये पाकिस्तानी सैनिक नियंत्रण रेखा पर भारत की जवाबी कार्रवाई में मारे गए थे। मालूम हो कि पाकिस्तान की तरफ से एलओसी पर अक्सर अकारण […]

अपनी नाकामी छिपाने के लिए सेना का इस्तेमाल कर भाजपा खतरे की राह पर चल रही है : अहमद पटेल

नई दिल्ली: कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने चुनाव प्रचार में सशस्त्र बलों के उपयोग को रोकने वाले चुनाव आयोग के परामर्श की आवश्यकता पर जोर देते हुए कहा कि भाजपा अपनी नाकामी छुपाने के लिए सेना का इस्तेमाल कर खतरे की राह पर चल रही है। चुनाव आयोग (ईसी) ने शनिवार को एक […]

सेना के शीर्ष अधिकारी सामने आए: फौज का इस्‍तेमाल न हो

पहले सेना ने और अब सेवानिवृत्त हो चुके वरिष्ठ सेना अधिकारियों ने सरकार की प्रस्तावित सेना तैनाती नीति को लेकर अपना विरोध प्रगट किया है. जो बात सरकार को समझनी चाहिए, उसे भारत की सेना सरकार को समझाने की कोशिश कर रही है कि विकास के काम में युद्ध स्तर की तेज़ी लाए और भ्रष्टाचार के दोषी सिविल पुलिस व प्रशासन के अधिकारियों-कर्मचारियों को मध्यकालिक सख्ती वाली सज़ा दिए बिना,

पाकिस्‍तान में फौज के आने की आहट

पाकिस्तान से आने वाली ख़बरें चिंता पैदा कर रही हैं. किसी आम आदमी से बात हो रही हो या पत्रकार से, सांसद से या नौकरशाह से, बस एक बात कही जा रही है कि यहां के हालात अच्छे नहीं हैं. कितने अच्छे नहीं हैं, उसके जवाब में कहा जाता है कि बिल्कुल ही अच्छे नहीं हैं, बल्कि बहुत ख़राब हैं.

विकास का वादा बनाम विनाश का भय

बलूचिस्तान ऑपरेशन की शुरुआत तो ग्वाडोर परियोजना की घोषणा के साथ हुई थी, लेकिन इसकी बुनियाद रखी गई हत्या, अपहरण और दिल को दहला देने जैसी वारदातों के साथ. ग्वाडोर बंदरगाह की बात तो की गई, लेकिन वादा केवल वादा ही बनकर रह गया.