Tiktok और Helo की बढ़ सकती है मुश्किलें, सरकार ने भेजा नोटिस

केंद्र सरकार ने सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म टिकटॉक और हेलो को लेकर कड़ा रुख अख्तियार किया है. दरअसल सरकार को टिकटॉक और हेलो को लेकर लगातार शिकायतें मिल रही थीं कि इनका इस्तेमाल देश विरोधी गतिविधियों के लिए किया जा रहा है. जिसके चलते सरकार ने टिकटॉक और हेलो को नोटिस भेजकर 21 सवालों के जवाब […]

पूर्व IAS शाह फैसल के खिलाफ आतंकी संगठन ने लगाए पूरे कश्मीर में पोस्टर, हिज्बुल ने कहा- नहीं करें समर्थन

श्रीनगर: IAS टॉपर शाह फैसल ने अपनी नौकरी छोड़कर घाटी में अमन चैन के लिए अपनी नयी पार्टी बनाने के फैसला किया था। नौकरी छोड़ने के साथ शाह फैसल ने कहा किया था कि घाटी के युवक बहक गए हैं और उन्हें अमन की तरफ बढ़ना चाहिए। इस बीच आतंकी संघठन हिज्बुल मुजाहिद्दीन ने शाह […]

LIVE: भारत आज मना रहा है 70वां गणतंत्र दिवस, गणतंत्र दिवस पर प्रधानमंत्री मोदी ने लोगों को बधाई दी

देश आज 70वां गणतंत्र दिवस मना रहा है. इस मौके पर राजपथ पर देश की सैन्य ताकत के साथ-साथ देश की संस्कृति और विकास की झलक भी देखने को मिलेगी. इस साल दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति सीरिल रामफोसा के साथ उनकी पत्नी डॉ. शेपो मोसेपे गणतंत्र दिवस परेड के मुख्य अतिथि हैं. इस साल गणतंत्र […]

हम एक मरते हुए समाज में जी रहे हैं

हमारे देश में कुछ स्थितियां ऐसी बन जाती हैं जिनके पीछे कोई तर्क नहीं होता, लेकिन स्थितियां बन जाती हैं. जैसे, मैं जब से रिपोर्टिंग कर रहा हूं, देखता हूं कि अगर कहीं बड़ी डकैती की घटना हो जाती है, तो फिर अचानक डकैतियों से जुड़ी घटनाओं की बाढ़ आ जाती है. कहीं अगर बलात्कार […]

नए जातिगत झमेले में झारखंड, अब कुर्मी और आदिवासी आमने-सामने

1950 में कुर्मी को अनुसूचित जनजाति की सूची से हटाकर ओबीसी में शामिल किया गया था. अब कुर्मी और तेली फिर से खुद को आदिवासी का दर्जा देने की मांग कर रहे हैं. लेकिन आदिवासी इनकी दलीलों और मांगों को सिरे से खारिज कर रहे हैं. इस मुद्दे पर सियासी व सामाजिक गतिविधियां तेज हो […]

स्वस्थ परंपराओं का निर्वाह लोकतंत्र के लिए ज़रूरी है

अब देश में राजनीतिक पहलू एक गंभीर मसला बन गया है. जब से देश में संविधान बना, तब से एक राजनीतिक व्यवस्था चली आ रही है. इंदिरा गांधी ने इमर्जेंसी लगाकर उन्नीस महीने के लिए माहौल गड़बड़ा दिया, लेकिन बाद में इसे हटाकर फिर वापस ट्रैक पर ले आईं. 1977 के बाद सब ठीक चल […]

धड़ल्ले से सफेद हो रहे हैं प्रतिबंधित नोट, ज़रिया बन रहे मित्र देशों के बैंक, नोटबंदी इनके लिए नहीं

नोटबंदी के बाद प्रतिबंधित नोटों के चलन पर लगाई गई सख्ती भारत सरकार का दिखावा है. पांच सौ और हजार के प्रतिबंधित नोट्स आज भी चल रहे हैं. कुछ पड़ोसी देशों के बैंक भारत के प्रतिबंधित नोट्स अब भी जमा कर रहे हैं. जिन पड़ोसी देशों से भारत का सीधा व्यापारिक सम्बन्ध है और जहां […]

सत्याग्रह के सौ वर्ष बाद चम्पारण में स्वच्छाग्रह आंदोलन

भारत सरकार के स्वच्छता अभियान और बिहार सरकार के लोहिया स्वच्छता मिशन को कामयाब बनाने और गांधी जी के स्वच्छता के संदेश को जन-जन तक पहुंचाने के लिए शुरू हुआ ‘चम्पारण का रण’ अभियान अब रंग दिखाने लगा है. जिलाधिकारी रमण कुमार के नेतृत्व में शुरू हुए इस अभियान के द्वारा जिले को खुले में […]

जनता की निजता में दखल है आधार

सुप्रीम कोर्ट ने अपने ऐतिहासिक फैसले में माना है कि निजता का अधिकार मौलिक अधिकार है और यह संविधान के आर्टिकल 21 (जीने के अधिकार) के तहत आता है. जाहिर है ये फैसला केन्द्र सरकार की रुख के उलट है. केंद्र सरकार ने कोर्ट में कहा था कि निजता मौलिक अधिकार नहीं है. अब इस फैसले […]

कर्ज का रकम जुटाने हेतु सरकारी कर्मियों के एक दिन का वेतन काटेगी सरकार

नई दिल्ली, (राजीव) : किसानों के कर्ज माफ़ी ने तोड़ी सरकार की कमर कर्ज का रकम जुटाने हेतु सरकारी कर्मियों के एक दिन का वेतन काटेगी सरकार अधिकांश अनुदान व सरकारी मदद हुए प्रभावित नागपुर वर्ष 2014 राज्य में भाजपा सरकार की एकतरफा सरकार बनी. बहुमत के आधार पर भाजपा सरकार ने पक्ष सहयोगी-विपक्षी दलों […]

कुपोषण की मार झेल रहा मेलघाट बना मौतघट

मुंबई : मेलघाट एक ऐसा इलाका जहाँ हर रोज़ एक मौत होती है , जहाँ हर दिन एक माँ की गोद उजड़ जाती है। आज सतपुड़ा पर्वतमाला की मेलघाट पहाडि़यों के भीतर मौत ने अपना परमानेंट ठिकाना बना लिया है। इस इलाके की सुबह रोती की माँओं की चीत्कार से शुरू होती तो शाम अपने […]

बीसीसीएल-धनबाद: कोल शॉर्टेज या कोयला घोटाला

नई दिल्ली, (शशि शेखर) : 26 लाख करोड़ या 1.86 लाख करोड़ के कोयला घोटाले के बाद एक और कोयला घोटाला हमारे सामने है. हमारे दस्तावेज बताते हैं कि ये घोटाला ही है. भारत कोकिंग कोल लिमिटेड (बीसीसीएल) चाहे, तो ये बता कर इसे गलत साबित कर सकती है कि सैकड़ों करोड़ के कोयले और […]

तेलंगाना सरकार का फरमान, सिर्फ कुवांरी लड़कियों को मिलेगा कॉलेज में एडमिशन

नई दिल्ली, (विनीत सिंह) : तेलंगाना सरकार ने एक अजीबो गरीब फरमान जारी किया है जिसने सबके होश उदा दिए हैं. दरअसल सामाजिक कल्याण आवासीय महिला कॉलेजों में एडमिशन के लिए एक नया आदेश जारी हुआ है जिसके अब इन कॉलेजों में सिर्फ कुंवारी लड़कियों को ही एडमिशन दिया जायेगा। सरकार की तरफ से लिए […]

आय से अधिक सम्पत्ति का प्रेत जया के बाद माया पर छाया

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता की आय से अधिक संपत्ति उनके लिए विपत्ति का कारण बनी और उन्हें जेल जाना पड़ा. जयललिता के ख़िलाफ़ अदालत के इस रुख से अब मायावती की जान आफत में है. मायावती की अकूत संपत्ति भी अदालत की निगाह में है, इसीलिए सीबीआई की टालमटोल के बावजूद मामला टलता नहीं दिख […]

दादरी पॉवर प्लांट भूमि अधिग्रहण प्रकरण : रिलायंस ने घुटने टेके

किसान को विकास का अगुवा और संस्कृति का खुदा कहा गया है, लेकिन जैसे-जैसे मानव सभ्यता आगे बढ़ी, वैसे-वैसे किसान हाशिये पर चला गया. रील लाइफ से रियल लाइफ तक किसान का चरित्र हमेशा से हारने वाला रहा है. वह कभी मौसम से हारता है, कभी साहूकार से, तो कभी सरकार से, लेकिन संघर्ष किसान […]

अल्पसंख्यकों के हितों और सुरक्षा पर गंभीर बहस

इट इज बेटर टू बी अन-पॉपुलर दैन टू बी अन-ट्रूथफुल यानी झूठ बोलने से बेहतर है, अलोकप्रिय होना. यह अंतिम पंक्ति थी उस शख्सियत के भाषण की, जिसे देश-दुनिया भर में विधि विशेषज्ञ और क़ानून के प्रकांड विद्वान के रूप में शोहरत हासिल है. और, जिसने अनगिनत उच्च पदों की शोभा बढ़ाकर देश की सेवा […]

इतिहास पर माथापच्ची

संघ और विश्‍व हिंदू परिषद के सहायक संगठनों द्वारा एक अलग तरह का फ्रंट खोल दिया गया है, जो सांप्रदायिक एजेंडे से तो अलग है, लेकिन अक्सर इसे लेकर लोग भ्रमित हो जाते हैं. यह संघ परिवार की सांस्कृतिक पहचान का एजेंडा है. यहां पर भी दो धड़े हैं. एक धड़ा वीर सावरकर के उस […]

एनटीपीसी का विस्तारीकरण : क़ानून को ताख पर रखकर ज़मीनों का अधिग्रहण

अंबेडकर नगर में टांडा स्थित एनटीपीसी तापीय विद्युत गृह के विस्तारीकरण के चलते कई किसानों की ज़िंदगी अंधकार में डूब गई है. प्रशासनिक अमले ने सारे नियम-क़ानून ताख पर रखकर, मामला न्यायालय में विचाराधीन होने और तय कोरम पूरा न हो पाने के बावजूद भूमि अधिग्रहण की कार्रवाई अंजाम दे दी. एक बड़ा टकराव टालने […]

ज्वाइंट वेंचर के नाम पर एक और कोयला घोटाला

मान लीजिए, आप दावत देना चाहते हैं, उसके लिए राशन एवं अन्य आवश्यक सामान खरीद कर लाते हैं, बावर्ची को बुलाते हैं और उससे भोजन तैयार करने को कहते है. इस काम के बदले बावर्ची आपसे एक तयशुदा रकम लेता है. यह तो हुई एक आम कहानी. अब एक खास कहानी. मान लीजिए, बावर्ची आपसे […]

पूर्वोत्तर की गांधी इरोम शर्मिला

मणिपुर में आर्म्ड फोर्सेस स्पेशल पावर एक्ट (अफ्सपा) हटाने की मांग को लेकर पिछले 14 वर्षों से भूख हड़ताल कर रहीं इरोम शर्मिला को मणिपुर हाईकोर्ट के आदेश के बाद रिहा तो किया गया, लेकिन दूसरे ही दिन आत्महत्या की कोशिश के आरोप में उन्हें फिर गिरफ्तार कर लिया गया. अपने आदेश में हाईकोर्ट ने […]

…फिर भी सियासत को शर्म नहीं आती

मुजफ्फरनगर दंगों को लेकर खूब सियासत हुई. उत्तर प्रदेश सरकार, समाजवादी पार्टी, पूर्ववर्ती केंद्र सरकार और उसकी सूत्रधार कांग्रेस ने स्वयं को मुसलमानों का हितैषी दर्शाने की सारी हदें लांघीं, लेकिन साबित यही हुआ कि आम नागरिक कभी किसी सत्ता का प्रिय नहीं होता. नागरिकों के सरोकार कभी राजनीतिक दलों की प्राथमिकता पर नहीं रहते. […]

यह सक्रियता आपराधिक थी

बिहार के लिए अगस्त के शुरुआती तीन दिन बड़े ही त्रासदपूर्ण रहे. सूबे में वे दिन कोशी में जल-प्रलय की आशंका के बीच गुजरे. नेपाल के सिंधुपाल चक ज़िले में भू-स्खलन के कारण सनकोसी नदी पर झील बन जाने से यह आशंका पैदा हुई थी. राज्य सरकार के अफसरों एवं अभियंताओं का कहना था कि […]

दिल्ली का बाबू : बाबू बेचारा, काम का मारा

हिमाचल प्रदेश कैडर के कम से कम 26 अधिकारी वर्तमान में प्रदेश के बाहर केंद्रीय प्रतिनियुक्ति अथवा अन्य नियुक्तियों पर हैं. इस वजह से राज्य की नौकरशाही कमजोर हो गई है. कुछ नौकरशाह तो साफ़ तौर पर काम के बोझ तले दबे हुए हैं. 1980 बैच के आईएएस अधिकारी तरुण श्रीधर वर्तमान में राजस्व सचिव […]

इतिहास फिर से क्यों लिखा जाना चाहिए

आम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की भारी-भरकम जीत के साथ ही यह तय हो गया था कि अब देश में इतिहास को लेकर विवाद उठेगा. भारतीय जनता पार्टी की सरकार इतिहास को फिर से लिखने की कोशिश करेगी, जिसका विरोध भी होगा. सरकार के अभी सौ दिन पूरे नहीं हुए हैं, लेकिन यह विवाद […]

मध्य प्रदेश: रामराज या भ्रष्टराज

मध्य प्रदेश देश का एक ऐसा राज्य है, जहां से लगातार लोकायुक्त की टीम द्वारा सरकारी कर्मचारियों के यहां छापे मारने की ख़बरें आती रहती हैं और चपरासी से लेकर वरिष्ठ अधिकारियों तक के पास करोड़ों-अरबों की संपत्ति होने का खुलासा करती हैं. लगातार छापेमारी की ख़बरों से तो ऐसा लगता है कि देश में […]

हिंदू राष्ट्र में हो समग्र भारत

दक्षिण भारत का मुसलमानों के साथ अनुभव व्यापारिक तौर पर रहा. उन्होंने मुलसमानों के साथ व्यापार का अनुभव लिया, न कि मुस्लिम शासन का. मुस्लिम शासन काफी बाद में वहां पहुंचा. इसी प्रकार किसी भी तरह के हिंदू इतिहास को लिखते समय भक्ति आंदोलन के बारे में सोचना ही होगा, जिसकी शुरुआत दक्षिण भारत में […]

महाभारत पर वैचारिक महाभारत

डॉक्टर जेम्स अशर बाइबिल के विद्वान थे. जेनेसिस के अध्यायों के अध्ययन के दौरान गणना करके वह इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि ईश्‍वर ने दुनिया की रचना 4004 बीसी में की थी. वह बाइबिल की गणना के अनुसार तो सही थे, लेकिन ऐतिहासिक रूप से गलत थे. आज भी डारविन को नकारने वाले अशर की […]

सरकार की कार्य प्रणाली अस्पष्ट है

यह सरकार जिस तरी़के से काम कर रही है, वह एक मिश्रित संकेत दे रहा है. कोई स्पष्ट तस्वीर नहीं दिख रही है. यह पता नहीं चल पा रहा है कि आख़िर वे करने क्या जा रहे हैं. यह भी नहीं पता चल रहा है कि उनकी रणनीति बनाने वाले मुख्य लोग हैं कौन? अभी […]

आम बजट और स्वास्थ्य जो वादा किया, वह निभाना पड़ेगा

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने वर्ष 2014-15 का आम बजट पेश कर दिया. बतौर वित्त मंत्री यह उनका और उनकी सरकार का पहला बजट है. लोगों ने भाजपा या नरेंद्र मोदी को इस उम्मीद के साथ लोकसभा चुनाव में ऐतिहासिक जीत दिलाई थी कि सरकार उनकी मूलभूत समस्याएं हल करने की पहल करेगी. आम लोगों […]

अमीरों का रेल बजट

मोदी सरकार के गठन के बाद अच्छे दिनों की आस लगाए बैठे लोगों ने सोचा था कि नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनते ही उनके दिन बहुर जाएंगे. सरकारी महकमों, खासकर रेलवे की हालत सुधर जाएगी. लोगों को रेल के जनरल डिब्बे के बाथरूम में बैठकर सफर नहीं करना पड़ेगा. रेल के जनरल डिब्बों में जानवरों […]