Tag: अधिकार

सरकारी दस्तावेज़ देखना आपका अधिकार है

सरकारी दस्तावेज़ देखना आपका अधिकार है

आरटीआई क़ानून में कई प्रकार के निरीक्षण की व्यवस्था है. निरीक्षण का मतलब है कि आप किसी भी सरकारी विभाग की फाइल, किसी भी विभाग द्वारा कराए गए काम का निरीक्षण कर सकते हैं. उदाहरण के लिए, यदि आपके क्षेत्र...

शिक्षा का अधिकार कानून का पालन असंभव

शिक्षा का अधिकार कानून का पालन असंभव

भारत सरकार ने 1 अप्रैल 2010 से 6 से 14 वर्ष तक के सभी बालक-बालिकाओं के लिए शिक्षा के अधिकार की गारंटी देते हुए सभी को शिक्षित करने का एक महत्वाकांक्षी और क्रांतिकारी क़ानून लागू तो कर दिया है, लेकिन...

अब पेंशन की टेंशन नहीं

अब पेंशन की टेंशन नहीं

बिहार के जमालपुर से आर के निराला ने हमें पत्र के माध्यम से दो मामलों के बारे में सूचित किया है. दोनों मामले नगर परिषद जमालपुर से संबंधित हैं. पहला मामला चंपा देवी का है. चंपा देवी नगर परिषद जमालपुर...

सरकारी स्कूल : इमारतें जर्जर हालत में हैं, क्यों?

सरकारी स्कूल : इमारतें जर्जर हालत में हैं, क्यों?

एक अप्रैल (मूर्ख दिवस) का दिन गंभीर नहीं माना जाता. इसी दिन केंद्र सरकार ने शिक्षा का अधिकार नाम से एक नया क़ानून लोगों को तोह़फे में दिया है. क़ानून के मुताबिक़, छह साल से लेकर 14 साल तक के...

समान शिक्षा प्रणाली ही चाहिए

समान शिक्षा प्रणाली ही चाहिए

केंद्र सरकार जनता को गुमराह करने के लिए धन की कमी का हवाला देकर कारपोरेट एवं ग़ैर सरकारी संगठनों की लॉबी से सांठगांठ करने में जुटी हुई है. इससे भविष्य में ग़रीब एवं अमीर के बीच की खाई गहराने के...

सार–संक्षेप : मछलियों की पचास प्रजातियां विलुप्त

सार–संक्षेप : मछलियों की पचास प्रजातियां विलुप्त

मध्य प्रदेश की जीवनरेखा कही जाने वाली पवित्र नदी नर्मदा में प्रदूषण का स्तर घातक स्थिति में पहुंच चुका है. पर्यावरण विशेषज्ञों का कहना है कि नर्मदा नदी में बढ़ते प्रदूषण और छोटे-बड़े बांधों से पानी में ठहराव के कारण...

विकास का वादा बनाम विनाश का भय

विकास का वादा बनाम विनाश का भय

बलूचिस्तान ऑपरेशन की शुरुआत तो ग्वाडोर परियोजना की घोषणा के साथ हुई थी, लेकिन इसकी बुनियाद रखी गई हत्या, अपहरण और दिल को दहला देने जैसी वारदातों के साथ. ग्वाडोर बंदरगाह की बात तो की गई, लेकिन वादा केवल वादा...

मक़बूल पर फिदा क्यों हों?

मक़बूल पर फिदा क्यों हों?

जब मैंने मक़बूल फिदा हुसैन के भारत छोड़ने और क़तर की नागरिकता स्वीकार करने पर सेक्युलरवादियों के दोहरे चरित्र को उजागर करता हुआ लेख चौथी दुनिया में लिखा तो मेरे विवेक और मेरी समझ, मेरी विचारधारा, मेरी शिक्षा, मेरी पारिवारिक...

बुंदेलखंड के पत्‍थर खदान मजदूरों का दर्द

बुंदेलखंड के पत्‍थर खदान मजदूरों का दर्द

गगनचुंबी इमारतों एवं सड़कों की ख़ूबसूरती बढ़ाने के लिए पत्थर का सीना चाक करनेऔर नदी से बालू निकालने वाले मज़दूरों को दो जून की रोटी के बदले सिल्कोशिस नामक रोग मिल रहा है. विंध्याचल पर्वत श्रृंखलाओं के मध्य स्थित बुंदेलखंड...

लीडर भी बनेंगी लीडर पैदा भी करेंगी

लीडर भी बनेंगी लीडर पैदा भी करेंगी

भारतीय मुस्लिम महिलाओं की राजनीति में हिस्सेदारी हो या नहीं, इस प्रश्न पर मौलाना हज़रात ने फिर राजनीति शुरू कर दी है. प्रश्न यह नहीं कि धर्मगुरुओं ने पहली बार महिलाओं के मौलिक अधिकारों एवं भारतीय संविधान के अधिकारों की...

औरत के अधिकार के लिए आवाज़ उठाने का मतलब है मुसीबत को हवा देना

औरत के अधिकार के लिए आवाज़ उठाने का मतलब है मुसीबत को हवा देना

औरतों के फर्ज़ की जब बात आती है तो सारा मंच एक तऱफ दिखाई देता है, चाहे वह राजनीतिक हो, धार्मिक हो या फिर स्कॉलर हों या धर्मगुरु. लेकिन जब औरत के हक़ की बात आती है, चाहे उस हक...

औरतों का मुक़ाम समाजी और सियासी दोनों है

औरतों का मुक़ाम समाजी और सियासी दोनों है

सामाजिक जीवन में पुरुष-महिला का रिश्ता सबसे अहम है. उसका कारण यह है कि यह रिश्ता मानवीय संवेदना की बुनियाद है और इसमें मामूली सी ग़लती भी सामाजिक ढांचे को बदनुमा और दाग़दार बना सकती है. हमारा इतिहास औरतों पर...

क्या पुलिस वाले आपकी नहीं सुनते?

क्या पुलिस वाले आपकी नहीं सुनते?

चौथी दुनिया में आरटीआई कॉलम शुरू करने के पीछे हमारा मक़सद स़िर्फ यही है कि इसके ज़रिए हम अपने पाठकों और आम आदमी को इतनी ताक़त दे सकें कि लोग व्यवस्था और सरकार से अपने अधिकार और हक़ के लिए...

चौथा शाही स्नान जनता के अधिकारों पर डाका है

चौथा शाही स्नान जनता के अधिकारों पर डाका है

हरिद्वार में चल रहे महाकुंभ को लेकर एक ताज़ा समझौता साधु-संतों के तेरह अखाड़ों की परिषद् तथा कुंभ प्रशासन के बीच हुआ है. इस समझौते के मुताबिक़ सभी तेरहों अखाड़े 15 मार्च के सोमवती अमावस्या और 14 अप्रैल के मुख्य...

बचाव की तैयारी में नौकरशाही

बचाव की तैयारी में नौकरशाही

सूचना के अधिकार वाले कानून ने देश में सरकारी कामकाज को पारदर्शी और जिम्मेदार बनाने की प्रक्रिया भले शुरू कर दी हो, लेकिन नौकरशाही अब अपने बचाव के रास्ते ढूंढने में लगी है. सरकारी बाबुओं का यह वर्ग तथ्यहीन और...

शिक्षा का अधिकार झूठ और सच का खेल

शिक्षा का अधिकार झूठ और सच का खेल

शिक्षा मंत्री कपिल सिब्बल पहली अप्रैल से देश को शिक्षा का अधिकार देने जा रहे हैं. वह बार-बार कह रहे हैं कि उनकी मंशा शिक्षा व्यवस्था में आमूल बदलाव करने की है. बात सुनने में अच्छी और लुभावनी लगती है....

सवाल पूछो, ज़िंदगी बदलो

सवाल पूछो, ज़िंदगी बदलो

चौथी दुनिया ने पिछले अंक से अपने पाठकों एवं आम लोगों तक सूचना का अधिकार क़ानून की जानकारी पहुंचाने के रूप में एक नई पहल की है. चौथी दुनिया आपको देगा वह ताक़त, जिससे आप पूछ सकेंगे सही सवाल.

Input your search keywords and press Enter.