कर्नाटक का नाटक अब तक ख़त्म नहीं हुआ है। इस बीच सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक में जारी राजनैतिक संकट पर अहम फैसला दिया है। दरअसल कोर्ट ने बागी विधायकों को निर्देश दिए हैं कि वह आज स्पीकर से मिलें, जिसके बाद स्पीकर को विधायकों के इस्तीफे पर फैसला लेना होगा। कोर्ट कल फिर इस मसले पर सुनवाई करेगा। बागी विधायक गुरुवार शाम 6 बजे बेंगलुरू में विधानसभा स्पीकर रमेश कुमार से मुलाकात करेंगे। बता दें कि स्पीकर द्वारा इस्तीफा स्वीकार ना करने के खिलाफ बागी विधायकों ने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था।

कांग्रेस नेता डीके शिवकुमार ने भाजपा पर निशाना साधा है और मुंबई से उन्हें जबरदस्ती वापस बेंगलुरु भेजे जाने पर इसे ‘शर्म की बात’ बताया है। बता दें कि बुधवार को डीके शिवकुमार बागी विधायकों से मिलने मुंबई पहुंचे थे। लेकिन मुंबई पुलिस द्वारा डीके शिवकुमार को होटल में जाने ही नहीं दिया गया। इसके बाद शिवकुमार होटल के बाहर ही जमे रहे और बागी विधायकों से मिलने की बात पर अड़े रहे। इस पर मुंबई पुलिस ने पवई इलाके में धारा 144 लागू कर दी। जिसके बाद डीके शिवकुमार को अन्य कांग्रेस नेताओं के साथ हिरासत में लेकर कलीना यूनिवर्सिटी रेस्ट हाउस ले जाया गया, जहां से उन्हें शाम में बेंगलुरु डिपोर्ट कर दिया गया।

बेंगलुरु पहुंचने पर शिवकुमार ने बताया कि मुंबई अपने स्वागत सत्कार के लिए जाना जाता है। मैंने वहां एक कमरा बुक किया था और अपने दोस्तों और सहयोगियों से मिलने के लिए मैं एक आधिकारिक दौरे पर गया था, लेकिन भाजपा और अधिकारियों ने अपनी ताकत का गलत इस्तेमाल किया। यह शर्म की बात है। वहीं एक बागी विधायक एसटी सोमशेखर बुधवार शाम में बेंगलुरु लौट आए। वह पिछले कई दिनों से मुंबई के एक होटल में ठहरे थे। बेंगलुरु लौटने पर सोमशेखर ने कहा कि मैं यहीं रहूंगा, मैं अब मुंबई वापस नहीं जाऊंगा। मैंने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया है, लेकिन मैं अभी भी कांग्रेस पार्टी का सदस्य हूं।