fbpx
Now Reading:
CAB पर बवाल: जावेद अख्तर-नसीरुद्दीन समेत 727 नामचीन हस्तियों ने चिट्ठी लिखकर जताया बिल का विरोध
Full Article 2 minutes read

CAB पर बवाल: जावेद अख्तर-नसीरुद्दीन समेत 727 नामचीन हस्तियों ने चिट्ठी लिखकर जताया बिल का विरोध

लोकसभा से पास होने के बाद नागरिकता संशोधन बिल आज राज्यसभा में पेश होने वाला है. इस बिल के विरोध में देशभर में प्रदर्शन हो रहे हैं. इस बीच 727 नामचीन हस्तियों ने भी बिल के विरोध में खुली चिट्ठी लिखी है. इनमें पूर्व जज, वकील, लेखक, अभिनेता और सामाजिक कार्यकर्ता शामिल हैं. विरोध करने वालों में जावेद अख्तर, नसीरुद्दीन शाह, एडमिरल रामदास जैसे बड़े नाम भी शामिल हैं.

पत्र में बिल वापस लेने की मांग

इन हस्तियों ने सरकार से नागरिकता संशोधन बिल वापस लेने की मांग की है. पत्र में लिखा है, ‘’ये बिल भारत की समावेशी और समग्र दृष्टि की धज्जियां उड़ा रहा है, जिससे भारत को स्वतंत्रता संग्राम में मार्गदर्शन मिला था. सांस्कृतिक और शैक्षणिक समुदायों से हम इस बिल को विभाजनकारी, भेदभावपूर्ण और असंवैधानिक मानते हैं और यह भारत के लोकतंत्र को मौलिक रूप से नुकसान पहुंचाएगा.”

ये बिल संविधान के साथ एक धोखा

पत्र में यह भी लिखा गया है कि ये बिल संविधान के साथ एक धोखा है. इसलिए हम सरकार से इस बिल को तुरंत वापस लेने की मांग कर रहे हैं. आगे कहा गया है कि ये प्रस्तावित कानून भारतीय गणतंत्र के मूल चरित्र को आधारभूत रूप से बदल देगा और यह संविधान द्वारा मुहैया कराये गए संघीय ढांचे को खतरा पैदा करेगा.

बता दें कि इस पत्र पर लेखक जावेद अख्तर, अभिनेता नसीरुद्दीन शाह और एडमिरल रामदास के अलावा इतिहासकार रोमिला थापर, अभिनेत्री नंदिता दास, अपर्णा सेन, सामाजिक कार्यकर्ता योगेंद्र यादव, तीस्ता सीतलवाड, अरुणा राय और दिल्ली हाई कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश एपी शाह, देश के पहले सीआईसी वजाहत हबीबुल्ला आदि लोग शामिल हैं.

गौरतलब है कि लोकसभा में नागरिकता संशोधन बिल पास कराने के बाद आज सरकार राज्यसभा में नागरिकता संशोधन बिल पेश करने वाली है. बिल पर चर्चा दोपहर दो बजे शुरू होगी. बहस के लिए 6 घंटे का वक्त तय किया गया है. 9 दिसंबर को ये बिल लोकसभा में लंबी चली बहस के बाद पास किया गया था. बिल के पक्ष में 311 और विरोध में 80 वोट पड़े थे.

 

Input your search keywords and press Enter.