fbpx
Now Reading:
 दिल्ली: पहले जबरन ‘जय श्री राम’ के नारे लगवाए इनकार तो कार से कुचलने की कोशिश की , जांच में जुटी पुलिस
Full Article 3 minutes read

 दिल्ली: पहले जबरन ‘जय श्री राम’ के नारे लगवाए इनकार तो कार से कुचलने की कोशिश की , जांच में जुटी पुलिस

देश की राजधानी दिल्ली से मानवता को शर्मसार करने वाला एक मामला सामने आया है। जहां शहर के रोहिणी इलाके में कुछ लोगों ने जबरन एक मौलवी से ‘जय श्री राम’ का नारा लगाने को कहा, जब उन्होंने इनकार किया तो बुरी तरह पिटाई की गई और कार से भी कुचलने की कोशिश हुई। मुलावी की शिकायत के बाद दिल्ली पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। इस हमले में मौलवी के सिर, चेहरे और हाथ में गंभीर चोटें आई हैं। जिसकी तस्वीरें सोशल मीडिया में वायरल हो रही है।

सुनिए मौलवी की ज़बानी

मौलवी ने बताया कि, उनके साथ ये घटना गुरूवार देर शाम हुई। दिल्ली पुलिस को दी अपनी शिकायत में 40 वर्षीय मौलाना मोमिन ने कहा कि यह वारदात गुरूवार को उस समय हुई जब वह वह मस्जिद सह मदरसे के पास टहल रहा था। देश की राजधानी दिल्ली में एक मौलवी ने आरोप लगाया है कि रोहिणी इलाके में ‘जय श्री राम’ का नारा लगाने से इनकार करने पर उसकी पिटाई की गई है। साथ ही उसने यह भी कहा कि युवकों ने उसे कार से टक्कर भी मारी। फिलहाल पुलिस ने कहा कि वह मौलवी के दावों की जांच कर रही हैं। बता दें कि इस कथित हमले में मौलवी के सिर, चेहरे और हाथ में गंभीर चोटें आई हैं। जिसकी तस्वीरें सोशल मीडिया में वायरल हो रही है।

क्या है मामला: यह पूरा मामला गुरूवार की देर शाम का बताया जा रहा है, जहां पुलिस को दी अपनी शिकायत में 40 वर्षीय मौलाना मोमिन ने कहा कि यह वारदात गुरूवार को उस समय हुई जब वह वह मस्जिद सह मदरसे के पास टहल रहा था। मोमिन रोहिणी के सेक्टर 20 में एक स्थानीय मदरसे में पढ़ाते है। मोमिन का दावा है कि जब वह शाम लगभग छह बजकर 45 मिनट पर अपनी मस्जिद की ओर जा रहे थे तो एक कार ने पीछे से उन्हें टक्कर मारी। मोमिन ने कहा, ‘‘तीन लोगों ने मुझ से हाथ मिलाने का प्रयास किया। मुझे उनके इरादों पर शक था लेकिन फिर भी मैंने उनसे हाथ मिलाया।’’ उसका दावा है कि तीनों ने उसके हालचाल के बारे में पूछा, जिसका उन्होंने जवाब दिया, ‘‘अल्लाह की कृपा से, मैं अच्छा हूँ। उन्होंने इस पर आपत्ति जताई और मुझसे ‘‘जय श्री राम’’का नारा लगाने को कहा।’’ मोमिन ने कहा कि उन्होंने ‘जय श्री राम’ का नारा लगाने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा, ‘‘मैं अपनी मस्जिद में वापस जाने लगा, लेकिन मुझे एक वाहन ने टक्कर मारी। ज़मीन पर गिरते ही मैं होश खो बैठा।’’

मोमिन रोहिणी के सेक्टर 20 में एक स्थानीय मदरसे में पढ़ाते है। मौलवी ने बताया कि मौके से गुजर रहे एक व्यक्ति ने पुलिस को बुलाया और इसके बाद उन्हें सुल्तानपुरी के संजय गांधी अस्पताल ले जाया गया। मोमिन के सिर, चेहरे और हाथ में चोटें आई हैं। मोमिन ने शुक्रवार को एक औपचारिक शिकायत दी। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि शिकायतकर्ता ने कथित घटना की रिपोर्ट की है और पुलिस ने धाराओं 337 और 279 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने बताया कि वे तीन लोगों के बारे में सूचना प्राप्त करने के लिए सीसीटीवी कैमरों की जांच कर रहे हैं।

Input your search keywords and press Enter.