fbpx
Now Reading:
योगी राज में पुलिस बनी डकैत, लूटे 1.85 करोड़
Full Article 3 minutes read

योगी राज में पुलिस बनी डकैत, लूटे 1.85 करोड़

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में इन दिनों खाकी का गुंडाराज अपने चरम पर है. योगी राज में अपराधियों पर सिकंजा कसना तो दूर पुलिस वाले खुद डकैत बने घूम रहे हैं. मामला यूपी की राजधानी लखनऊ का है. जहां गोसाईगंज थाने के दो दारोगा ने एक कारोबारी के फ्लैट में घुसकर 1.85 करोड़ रुपए पर हाथ साफ़ कर लिए. छापेमारी की आड़ में फ्लैट में घुसे पुलिसवालों ने बंदूक के दम पर इस वारदात को अंजाम दिया है. हालांकि उनकी यह करतूत वहां लगे सीसीटीवी में रिकॉर्ड हो गई. जिससे एक बार फिर उत्तर प्रदेश में पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान खड़े हो गए है.

वहीं मामले की जानकारी मिलने पर एसएसपी कलानिधि नैथानी ने दो दरोगा, उनके मुखबिर और चार अज्ञात साथियों के पर बंधक बनाकर डकैती का मामला दर्ज कराया है. लूट में लिप्त दोनों दरोगा निलंबित कर दिए गए है और उनसे पूछताछ की जा रही है. जबकि कारोबारी सख्स के फ्लैट से रुपये से भरा बैग लेकर निकले मुखबिर और उसके सहयोगियों की सरगर्मी से तलाश जारी है.

पुलिस के मुताबिक गोसाईंगंज थाने के दरोगा आशीष तिवारी, पुलिस लाइंस में तैनात एसआई पवन मिश्रा, मुखबिर मधुकर मिश्रा चार अन्य लोगों के साथ शनिवार सुबह छापेमारी के बहाने सरसवां के ओमेक्स सिटी के फ्लैट नंबर 104 में घुसे थे. जहां इन लोगों ने तक़रीबन 2 करोड़ रुपये की लूट को अंजाम दिया. बताया जा रहा है कि इन लोगों ने वहां मौजूद सुलतानपुर के खनन कारोबारी अंकित अग्रहरि, अश्वनी पांडेय, बल्दीखेड़ा गोसाईंगंज के अभिषेक वर्मा, अमेठी के अभिषेक सिंह, ग्वालियर के जितेंद्र तोमर, सचिन, रुदौली के कुलदीप और शुभम गुप्ता को बंदूक के निशाने पर ले लिया. इनकी तलाशी के दौरान फ्लैट से रुपये से भरे दो बक्से और एक अवैध पिस्टल बरामद हुई.

वहीं खनन कारोबारी अंकित ने का कहना है कि पुलिस ने उसके फ्लैट के एक बक्से से रुपयों से भरा बैग निकाला जिसे मधुकर लेकर चला गया. इसके बाद पवन ने अहिमामऊ चौकी प्रभारी प्रेमशंकर पांडेय को अवैध पिस्टल की जानकारी दी गई. जिसके बाद पवन और आशीष सभी को बाकी रकम व पिस्टल के साथ थाने ले जाया गया. वहीं इतनी बड़ी मात्रा में रकम बरामद होने के बाद पुलिस ने आयकर विभाग को सूचना दी. आयकर अधिकारियों को अंकित ने बताया कि उनके फ्लैट में 3.38 करोड़ रुपये रखे थे.जो उसे बांदा में अपने खदान पर पहुंचानी थी, लेकिन पुलिस के लोगों ने एक बक्से से तक़रीबन 1.85 करोड़ रुपये लूट लिए. वहीं गिनती करने पर दोनों बक्सों में पुलिस को 1.53 करोड़ रुपये मिले.

Input your search keywords and press Enter.