fbpx
Now Reading:
Tiktok और Helo की बढ़ सकती है मुश्किलें, सरकार ने भेजा नोटिस
Full Article 3 minutes read

Tiktok और Helo की बढ़ सकती है मुश्किलें, सरकार ने भेजा नोटिस

केंद्र सरकार ने सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म टिकटॉक और हेलो को लेकर कड़ा रुख अख्तियार किया है. दरअसल सरकार को टिकटॉक और हेलो को लेकर लगातार शिकायतें मिल रही थीं कि इनका इस्तेमाल देश विरोधी गतिविधियों के लिए किया जा रहा है. जिसके चलते सरकार ने टिकटॉक और हेलो को नोटिस भेजकर 21 सवालों के जवाब मांगे हैं. सूत्रों के हवाले से कहा जा रहा है कि सवालों के जवाब संतोषजनक ना होने पर टिकटॉक और हेलो को बैन किया जा सकता है.

दरअसल आरएसएस की स्वदेशी जागरण मंच ने प्रधानमंत्री मोदी से शिकायत की थी कि इन प्लेटफॉर्म्स का प्रयोग देश विरोधी गतिविधियों के लिए किया जा रहा है. जिसपर संज्ञान लेते हुए इलेक्ट्रॉनिक्स एवं आईटी मंत्रालय ने टिकटॉक और हेलो को नोटिस भेजा है. इलेक्ट्रॉनिक्स एवं आईटी मंत्रालय ने दोनों कंपनियों से यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि प्लेटफॉर्म का प्रयोग किसी भी तरह की देश-विरोधी गतिविधि के लिए ना हो और लोगों का डेटा अभी और भविष्य में किसी को ट्रांसफर नहीं किया जाएगा.

मंत्रालय की ओर से पूछा गया है कि प्लैटफॉर्म पर फेक न्यूज चेक करने और इसके खिलाफ ऐक्शन लेने के लिए अब तक क्या कदम उठाए गए हैं. साथ ही भारतीय कानून का पालन करते हुए क्या प्रयास किए जा रहे हैं? इसके साथ ही हेलो से मंत्रालय ने उस आरोप पर जवाब मांगा है, जिसमें कहा जा रहा है कि हेलो ने सोशल मीडिया साइट्स पर 11,000 मॉर्फ्ड राजनीतिक विज्ञापन डालने के लिए बाकी मीडिया प्लैटफॉर्म्स को बड़ी रकम का भुगतान किया है.

इसके अलावा सरकार ने चाइल्ड प्रिवेसी वॉइलेशन को लेकर भी चिंता जताई है. क्योंकि इन प्लैटफॉर्म पर 13 साल से ज्यादा उम्र का कोई भी व्यक्ति यूजर अकाउंट बना सकता हैं. जबकि भारत में 18 साल से कम के लोग अवयस्क माने जाते हैं.

वहीं दूसरी तरफ टिकटॉक और हेलो ने जॉइंट स्टेटमेंट में कहा है कि भारत की तेजी से बढ़ती डिजिटल कम्युनिटी से उन्हें काफी समर्थन मिल रहा है. दोनों कंपनियों का मानना है कि स्थानीय समुदाय के समर्थन के बिना भारत में सफल होना संभव न हो पाता. हम इसे लेकर अपनी जिम्मेदारियां समझते हैं. हम भारत सरकार के साथ मिलकर अपनी सीमाओं में काम करते रहेंगे और बेहतर प्लैटफॉर्म यूजर्स को देंगे. हालाकिं सूत्रों का कहना है कि गले तीन साल में टिकटॉक और हेलो की योजना 1 बिलियन यूएस डॉलर का निवेश करने की है, जिससे एक तकनीकी ढांचा तैयार किया जाएगा, जिससे इन प्लैटफॉर्म पर अपलोड होने वाले विडियोज और कम्युनिटी को मॉनीटर किया जाएगा.

Input your search keywords and press Enter.