fbpx
Now Reading:
मोदी सरकार का बड़ा फैसला, बंद होंगी घाटे में चल रही ये 19 कम्पनियां
Full Article 2 minutes read

मोदी सरकार का बड़ा फैसला, बंद होंगी घाटे में चल रही ये 19 कम्पनियां

केंद्र की नरेन्द्र मोदी सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए घाटे में चल रही 19 सरकारी कंपनियों को बंद करने का फैसला लिया है. इसमें एचएमटी, हिंदुस्‍तान केबल्‍स और इंडियन ड्रग्‍स जैसी बड़ी कम्पनियां शामिल हैं. आज लोकसभा में केंद्र सरकार ने कांग्रेस सांसद अदूर प्रकाश के सवाल के जबाब में ये बातें कहीं.

दरअसल कांग्रेस सांसद अदूर प्रकाश ने भारी उद्योग और लोक उद्यम मंत्रालय से सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों का ब्‍यौरा मांगा है. इसके साथ ही उन्होंने सवाल पूछा था कि क्‍या सरकार घाटे में चल रहे पीएसयू को बंद करने या उनके निजीकरण पर विचार कर रही है?साथ ही उन्होंने पूछा कि नीति आयोग ने निजीकरण के लिए पीएसयू की एक नई सूची तैयार की है या नहीं? इसके अलावा अदूर प्रकाश ने निजीकरण के लिए प्रस्‍तावित सभी पीएसयू के मुनाफा या नुकसान का भी ब्‍यौरा मांगा.

अदूर प्रकाश के सवालों का जवाब देते हुए अरविंद सांवत ने सदन को घाटे में चल रही कंपनियों के बारे में जानकारी दी. इसके साथ ही उन्‍होंने सार्वजनिक क्षेत्र की उन 19 कंपनियों की सूची भी जारी की जिन्हें बंद करने की तैयारी चल रही है.जिसमेंएचएमटी वॉचेज लिमिटेड, एचएमटी चिनार वॉचेज लिमिटेड, एचएमटी बियरिंग्‍स लिमिटेड, हिंदुस्‍तान केबल्‍स लिमिटेड, तुंगभद्रा स्‍टील प्रोडक्‍ट्स लिमिटेड, एचएमटी लिमिटेड की ट्रैक्‍टर यूनिट और इंस्‍ट्रूमेंटेशन लिमिटेड की कोटा यूनिट भी शामिल है. जिन्हें बंद करने की मंजूरी केंद्र सरकार से मिल चुकी है.

इसके अलावा जहाजरानी मंत्रालय के अधीन केंद्रीय अंतर्देशीय जल परिवहन निगम लिमिटेड,फार्मास्‍युटिकल्‍स विभाग के इंडियन ड्रग्‍स और राजस्‍थान ड्रग्‍स एंड फार्मास्‍युटिकल्‍स लिमिटेड को भी सरकार बन करने की तैयारी कर रही है.

Input your search keywords and press Enter.