fbpx
Now Reading:
छत्तीसगढ़ में नक्‍सलियों ने पुलिसवाले को उतारा मौत के घाट, इलाके में दहशत
Full Article 2 minutes read

छत्तीसगढ़ में नक्‍सलियों ने पुलिसवाले को उतारा मौत के घाट, इलाके में दहशत

छत्तीसगढ़ में नक्सलियों ने एक सहायक कांस्टेबल की चाकू मारकर हत्या कर दी है. घटना बीजापुर के साप्ताहिक बाजार की है. दरअसल हाल ही में राज्य की नक्सली गतिविधियां में काफी सक्रिया बढ़ी है. नक्सली अपनी रणनीति में परिवर्तन करते हुए अब सुरक्षाकर्मियों पर सामूहिक हमले के बजाय व्यक्तिगत हमले कर रहे हैं. साप्ताहिक बाजार में जहां सुरक्षाकर्मी कम संख्या में होते हैं, नक्सली हमले का आसान निशाना बन रहे हैं.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि घटना अपराह्न करीब दो बजे की है। सहायक कांस्टेबल चैतू कदती अपने परिवार के साथ मिरतूर गांव में साप्ताहिक बाजार गया था। वहां नक्सलियों के ‘लघु कार्रवाई दल’ ने कदती पर चाकुओं से हमला कर उसकी हत्या कर दी और घटनास्थल से फरार हो गए।

बता दें कि इससे पहले भी छत्तीसगढ़ के बीजापुर के एक साप्ताहिक बाजार में नक्सलियों ने सुरक्षाकर्मियों को अपना निशाना बनाया था. इस हमले में जिला बल के दो जवान घायल हो गए थे. इसमें से एक जवान के पीठ में गोली लगी और दूसरे पर नक्सलियों ने चाकू से हमला किया था. हमले में एक जवान की हालत काफी गंभीर थी.

बीजापुर के एसपी मोहित गर्ग ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया था कि बीजापुर के बासागुड़ा थाना क्षेत्र में साप्ताहिक बाजार लगा था. इसी दौरान नक्सलियों की ओर से भरे बाजार में 7-8 राउंड फायरिंग की गई. नक्सलियों के इस हमले में घायल जवानों को बीजापुर के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया था.

गौरतलब है कि हाल ही में बीजापुर जिले के पामेड़ थानाक्षेत्र के तोंगगुड़ा कैंप के नजदीक नक्सली हमले में पुलिस के दो जवान शहीद हो गए थे.हमले में कुछ ग्रामीण भी घायल हुए थे. नक्सलियों के इस हमले  में जिला बल के 2 जवान अरविंद मिंज और सुक्खू हपका शहीद हो गए थे. तोंगगुड़ा कैंप के दोनों जवान कैंप से बाहर कुछ काम से निकले थे. कैंप के बाहर जवानों पर पहले गोलियां बरसाई गईं फिर गला रेतकर की हत्या कर दी गई.

Input your search keywords and press Enter.