fbpx
Now Reading:
प्रधानमंत्री पर केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी का हमला जारी, कहा जो घर नहीं संभाल सकता है वो देश कैसे संभालेगा।
Full Article 3 minutes read

प्रधानमंत्री पर केंद्रीय मंत्री नितिन गड़करी का हमला जारी, कहा जो घर नहीं संभाल सकता है वो देश कैसे संभालेगा।

नागपुर: बीजेपी के वरिष्ठ नेता नितिन गडकरी ने एक बार फिर पीएम नरेन्द्र मोदी पर हमला बोला है. नागपुर में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के एक कार्यक्रम में पहुंचे. नितिन गडकरी ने कहा कि पहले अपना घर संभालो फिर पार्टी और देश के लिए समय दो. हालांकि उन्होंने ये बातें हां मौजूद कार्यकर्ताओं को लेकर कही लेकिन उनका इशारा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को लेकर था.

नागपुर में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए नितिन गडकरी ने कहा कि भाजपा और देश के लिए जान देने के लिए तैयार रहने वालों की कमी नहीं हैं.लेकिन उन लोगों को सबसे पहले अपना घर संभालना चाहिए, फिर पार्टी और फिर देश के समय देना होगा. क्योंकि जो अपना घर नहीं.

 

नहीं संभाल सकते वो देश क्या संभालेंगे?

नितिन गडकरी ने भले ही ये बातें वहां  उपस्थित उत्साही कार्यकर्ताओं के लिए कहीं हो लेकिन उन्होंने इशारो ही इशारों में पीएम मोदी पर सीधा हमला बोला है. वैसे यह कोई पहला मौका नहीं है जब केन्द्रीय मंत्री ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को आड़े हाथों लिया हो. इसके पहले भी सार्वजनिक मंच पर नितिन गडकरी पीएम मोदी की आलोचना करते नज़र आ चुकें हैं. बीते दिनों मुंबई के एक कार्यक्रम में उन्होंने  पीएम नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए कहा था कि चुनावी सपने दिखाने वाले नेता लोगों को अच्छे लगते हैं लेकिन अगर दिखाए हुए सपने पूरे नहीं हुए तो जनता उनकी पिटाई भी करती है. इसलिए सपने वही दिखाओ जो पूरे हो सकें. हालांकि इस दौरान नितिन गडकरी यह भी कहते हुए नजर आये कि मैं सपने दिखाने वालों में से नहीं हूं और मैं जो भी बोलता हूं वह डंके की चोट पर बोलता हूं.

 

बीजेपी के अच्छे दिनों का स्लोगन और मोदी सरकार की नीतियाँ हमेशा से ही नितिन गडकरी के निशाने पर रही हैं. लोकसभा चुनावों से पहले जिस तरह नितिन गडकरी ने बगावती तेवर अपनाएं हैं और पीएम मोदी पर निशाना साध रहे हैं उसके चलते राजनीतिक गलियारों में भी अटकलबाजियों का दौर शुरू हो गया है. हालाँकि कि कुछ लोग इसे राजनीतिक  ड्रामा कहते  नज़र आ रहे हैं. लेकिन बीते दिनों जिस तरह गडकरी ने जवाहर लाल नेहरू और इंदिरा गाँधी की तारीफों के पुल बांधे और 26 जनवरी के कार्यक्रम में राहुल गाँधी के साथ नज़र आये थे . ऐसे में साफ़ है कि भले ही बीजेपी लाख दावे करे की पार्टी एक जुट है लेकिन पीएम मोदी और नितिन गडकरी में  टकराव साफ़ तौर पर देखा जा सकता है. वहीं आगामी लोकसभा चुनावों को देखते हुए कहा जा सकता है कि यह हितों का टकराव कम और महत्वाकांक्षाओं का ज्यादा है.

Input your search keywords and press Enter.