चीन के बाहर इटली में कोरोना से दहशत फैल गई है. कोरोना (COVID-19) से चीन में अब तक 3012 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 80,409 लोग अब भी कोरोना से संक्रमित हैं. चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा है वहां अब भी स्थिति खराब है. चीन के नेशनल हेल्थ कमीशन के मुताबिक, ”बुधवार को 31 लोगों की मौत हुई, जबकि गुरुवार को 139 कन्फर्म केस सामने आए. सभी मौतें हुबेई के वुहान शहर में हुईं. 25,352 संक्रमित लोगों का अब भी इलाज चल रहा है. जबकि अब तक 52,045 लोगों को इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई है.”

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक चीन के बाहर बुधवार तक कुल 214 लोगों की मौत हुई, जबकि 12,600 कन्फर्म केस सामने आए हैं. पिछले 24 घंटे में चीन के बाहर 2,103 नए कन्फर्म केस सामने आए. इसके अलावा चार नए देश अर्जेंटीना, चीली, पोलैंड और यूक्रेन में भी कोरोना ने दस्तक दे दी है.
अमेरिका में मौत का आंकड़ा 11 तक
इटली और ईरान में कोरोना का संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है, जबकि अमेरिका में कोरोना से 11 लोगों की मौत हो चुकी है. समाचार एजेंसी पीटीआई ने सिएटल के एक स्वास्थ्य अधिकारी के हवाले से बताया है कि 26 फरवरी को सिएटल में कोरोना से एक मरीज की मौत हुई. इस मरीज का इलाज ”सिएटल केयर फैसिलिटी” मेडिकल सेंटर में हुआ था. वहां कई लोगों में कोरोना का संक्रमण पाया गया है और वहीं से अमेरिका में कोरोना वायरस तेजी से फैला.

इटली में 107 लोगों की मौत, स्कूल-कॉलेज बंद
कोरोना से इटली में अबतक 107 लोगों की मौत हो चुकी है. इटली में कोरोना से 3,089 लोग संक्रमित हैं. चीन और ईरान में महामरी बना कोरोना वायरस पूरी दुनिया के वैश्विक संकट के तौर पर उभर रहा है. इटली में कोरोना वायरस की वजह से 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है. यूरोपीय देशों में इटली पहला देश है, जहां कोरोना ने इतनी भीषण तबाही मचाई है. इटली में सभी स्कूल और विश्वविद्यालयों को सुरक्षा के मद्देनजर 15 मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया है.