दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल ने उस कुख्यात अपराधी को मुठभेड़ में मार गिराया है। इस कुख्यात अपराधी ने एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी के परिवार का जीना हराम कर रखा था। दरअसल इसी अपराधी ने एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा से कुछ साल पहले दिल्ली के लाजपत नगर इलाके में 8 करोड़ की लूट की थी। इसी लूट के दौरान शिव शक्ति नायडू ने राज कुंद्रा का मोबाइल में लूट लिया था, जिसके बाद उसमे मौजूद नंबरों पर कॉल कर उनके ही लोगों को धमकाता था। ये सिलसिला कई सालों तक चला जिसके बाद लूट के इस हाईप्रोफाइल केस में दिल्ली पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया था। शिव शक्ति नायडू इसी मामले में 6 साल जेल में रहने के बाद परोल पर बाहर आया और तब से फरार चल रहा था। उसे मंगलवार को पुलिस ने मंगलवार को मुठभेड़ में मार गिराया।

पुलिस की ओर से मिली जानकारी के अनुसार कंकरखेड़ा थाना क्षेत्र के वैष्णो धाम की आर्क सिटी कॉलोनी में मुठभेड़ हुई। बताया जाता है कि पुलिस को सरधना थाना क्षेत्र से फॉर्च्यूनर गाड़ी लूटे जाने की सूचना मिली। सूचना पाकर पुलिस ने कॉलोनी में चेकिंग कराई। इसी दौरान फॉर्च्यूनर गाड़ी में सवार गैंगस्टर शिव शक्ति नायडू ने पुलिस पर फायर झोंक दिया और फायरिंग करते हुए भागने की कोशिश करने लगा।

दिल्ली के छटे हुए बदमाशों में शामिल कुख्यात शिव शक्ति नायडू को पुलिस ने उत्तर प्रदेश के मेरठ में ढेर कर दिया। एक लाख रुपए के इनामी और मोस्टवांटेड शिव शक्ति नायडू को कंकरखेड़ा क्षेत्र में पुलिस ने घेर कर मौत के घाट उतार दिया। उसके पास से पुलिस ने चोरी की फॉर्च्यूनर कार, 9MM की कारबाइन और 12 डीबीएल बंदूकें बरामद की हैं।

बताया जा रहा है कि नायडू ने बीते सोमवार को ही यह फॉर्च्यूनर कार लूटी थी और लूट के बाद वो कंकरखेड़ा स्थित आरके सिटी कॉलोनी में एक फौजी के खाली पड़े फ्लैट में छिप गया था। मंगलवार की शाम करीब साढ़े चार बजे घर के बाहर खड़ी चोरी की कार पर नजर पड़ते ही पुलिस ने नायडू को इस फ्लैट के पास ही घेर लिया। पुलिस के मुताबिक नायडू के साथ उनकी 30 मिनट तक मुठभेड़ हुई थी। इस दौरान पुलिस की एक गोली नायडू के सीने में लगी और वो वहीं ढेर हो गया।

हालांकि शिव शक्ति नायडू का एक अन्य साथी रवि उर्फ भूरा मौके से फरार हो गया। इस मुठभेड़ के दौरान एक पुलिसवाले को भी लोगी लग गई। हालांकि उनकी हालत अब खतरे से बाहर बताई जा रही है। शिव शक्ति नायडू उर्फ भोला कालीदास 35 साल की उम्र में पुलिस की गोली से मारा गया है। करीब 8 साल से शिव शक्ति नायडू जरायम की दुनिया में था और उसने कई बड़े अपराध किये थे।

नायडू के पिता बाबूलाल दक्षिण भारत से दिल्ली में आकर बस गए थे। बाबूलाल कपड़ों का काम करते थे। शुरुआती दिनों में नायडू पिता का हाथ बंटाने लगा। खुराफाती दिमाग का नायडू गारमेंट की दुकान के साथ-साथ हवाला के धंधे से जुड़ गया। 2011 में सफदरजंग थाने में नायडू के खिलाफ जानलेवा हमले का पहला मुकदमा दर्ज हुआ। दूसरा मुकदमा अंबेडकर नगर थाने में जानलेवा हमले का ही दर्ज हुआ।

रंगदारी और लूटपाट की घटनाओं में माहिर शिव शक्ति नायडू ने दिल्ली के नासिर गैंग से हाथ मिलाया था। दिल्ली के मदनगीर इलाके में रहने वाले नायडू ने 28 जनवरी 2014 को दिल्ली में फिल्म कारोबारी और एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा से 7 करोड़ 80 लाख रुपये लूटे थे।हाल ही में उसने एक दूसरे गैंगस्टर हनी की हत्या भी की थी। उसने छेनू गैंग के साथ मिलकर कड़कड़डूमा कोर्ट में सिपाही रणसिंह मीणा को भी गोली मारा था। बेखौफ शक्ति नायडू ने कभी एसीपी को भी मारने की प्लानिंग बना ली थी।