दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को कहा कि दिल्लीवालों ने कोरोना के खिलाफ जबर्दस्त युद्ध छेड़ा हुआ है। इस युद्ध में हमारे पांच अहम हथियार हैं जिनकी मदद से दिल्ली इस युद्ध को हर हाल में जीतकर रहेगी और काफी हद तक हमने इसमें सफलता भी पाई है।

केजरीवाल ने कहा कि पिछले 1 सप्ताह में बेड्स की संख्या में काफी वृद्धि हुई है। अभी दिल्ली में 13500 बेड्स मौजूद हैं, जिनमें से 6500 पर मरीज हैं। साथ ही, प्रतिदिन 20000 टेस्ट किए जा रहे हैं। मैं केंद्र सरकार को हमें आवश्यक टेस्ट किट प्रदान करने के लिए धन्यवाद देता हूं

दिल्ली में अभी कुल कोरोना वायरस के लिए 13,500 बेड हैं जिनमें से 7,500 बेड खाली हैं। अभी बेड की कमी नहीं है। जून के पहले हफ्ते में जहां दिल्ली में 5,000 टेस्ट रोज हो रहे थे, वहीं आज 20,000 टेस्ट रोज हो रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने बताया कि दिल्ली में लगातार पैर पसार रहे कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जांच में तेजी लाई जा रही है। हमने टेस्ट करने की क्षमता 4 गुना तक बढ़ा दी है। दिल्ली में शुक्रवार को एक दिन में सबसे ज्यादा 21,144 टेस्ट किए गए। दिल्ली अब आक्रामक टेस्ट और आइसोलेशन की रणनीति अपनाई जा रही है।

बता दें कि दिल्ली कोरोना मामले में देश में दूसरे स्थान पर है। राजधानी में कुल संक्रमण का आंकड़ा 77 हजार 240 पर पहुंच गया है और यह वायरस 2492 मरीजों की जान ले चुका है।

कोरोना के खिलाफ युद्ध में दिल्ली सरकार के 5 हथियार  

1. अस्पतालों में बेड की संख्या बढ़ाई

2. बड़े स्तर पर टेस्टिंग और आइसोलेशन किया गया

3. ऑक्सीमीटर और ऑक्सिजन कॉन्सेंट्रेटर दिए गए

4. प्लाज्मा थेरेपी से इलाज किया गया

5. सर्वे और स्क्रीनिंग

 

Source : LNI