बिहार के मोकामा से निर्दलीय विधायक अनंत सिंह को 14 दिनों की न्‍यायिक हिरासत में भेज दिया गया है. दिल्‍ली के साकेत कोर्ट में सरेंडर करने के बाद बिहार पुलिस ने आज उन्हें बाढ़ कोर्ट में पेश किया. कोर्ट ने मामले की सुनवाई के बाद अनंत सिंह को 14 दिनों की न्‍यायिक हिरासत में भेज दिया गया.उन्हें बेऊर जेल में रखा जायेगा.

वहीं दूसरी तरफ अनंत सिंह को पटना एयरपोर्ट के वीआइपी गेट से बाहर निकाले जाने पर सूबे में सियासत तेज हो गई है.ऐसे में बिहार पुलिस भी सवालों के घेरे में हैं. सुरक्षा की दुहाई दे रहे पुलिस के आला अधिकारीयों ने मामले को लेकर चुप्पी साथ रखी है.

गौरतलब है कि मोकामा से निर्दलीय विधायक अनंत सिंह अपने पुराने घर से एके 47 और 2 हैंड ग्रेनेड समेत कारतूसों के बरामद होने के बाद अनंत सिंह 17 अगस्‍त से फरार चल रहे थे. बीते दिनों उन्होंने तीन वीडियो जारी करते हुए कहा था कि वे फरार नहीं हैं और जल्‍द ही वे कोर्ट में सरेंडर करेंगे. उनका कहना था कि उन्‍हें बिहार पुलिस पर भरोसा नहीं है. जिसके बड़ा उन्होंने बीते शुक्रवार को दिल्‍ली के साकेत कोर्ट में सरेंडर कर दिया था. जिसके बाद उन्हें तिहाड़ जेल भेज दिया गया था.

इस बीच अनंत सिंह की पत्‍नी नीलम देवी ने पुलिस आरोप लगते हुए कहा है कि पटना पुलिस की तीन जिप्‍सी ने सुबह  उनके घर को घेर लिया था. उन्‍हें न घर से निकलने दिया गया और न ही बाहर से किसी को अंदर आने दिया गया. उनका कहना है कि हमें जानकारी मिली कि अनंत सिंह की तबीयत खराब है और मैं उनकी एक झलक देखना चाहती थी, लेकिन पुलिस ने घर से बाहर निकलने नहीं दिया.